इस फल में कई बीमारियों का इलाज है, जानिए इसके जबरदस्त फायदे

इस फल में कई बीमारियों का इलाज है, जानिए इसके जबरदस्त फायदे

लसोड़ा खाने के कई फायदे हैं और इसका इस्तेमाल कई बीमारियों को ठीक करने के लिए किया जाता है। आइए जानते हैं कि इसका उपयोग कैसे किया जा सकता है। freepik.com भारत में कई फल हैं, जो अपने औषधीय गुणों के लिए जाने जाते हैं। इनमें कई पहाड़ी फल भी शामिल हैं। आज हम एक ऐसे फल के बारे में बात करेंगे, जिसके बारे में कम ही लोग जानते होंगे। हम बात कर रहे हैं लसोड़ा की, जिसे कई जगहों पर गोंडी और निसोरी भी कहा जाता है। इसके अलावा इसे इंडियन चेरी भी कहा जाता है। इस फल का आकार बहुत छोटा होता है, लगभग सुपारी की तरह। अचार, चूरन या साग जैसे विभिन्न तरीकों से लसोड़ा का सेवन किया जाता है। लसोड़ा फल के अलावा इसके पत्तों और पेड़ की छाल का भी औषधि के रूप में उपयोग किया जाता है। यह एक पौधा है जिसका उपयोग खांसी, अस्थमा, त्वचा की एलर्जी, बुखार और अन्य शारीरिक समस्याओं के लिए किया जाता है। आइए जानते हैं कि लासोडा का उपयोग कैसे करें। इनफ्लेमेशन की समस्या खत्म हो जाएगी। अगर जोड़ों के दर्द या सूजन जैसी समस्या है, तो पेड़ की छाल का काढ़ा बना लें और इसमें कपूर मिलाएं। अब इस मिश्रण से सुबह और शाम को सूजन या दर्द वाले क्षेत्र पर मालिश करें। इसके अलावा, लासोदा के पेड़ की छाल को पीसकर पेस्ट के रूप में सूजन वाले क्षेत्र पर भी लगाया जा सकता है। इससे आपको बहुत फायदा होगा। गले की खराश दूर हो जाए अगर गले में खराश या खांसी जैसी समस्या है तो आप लसोड़ा का काढ़ा बनाकर सेवन कर सकते हैं। काढ़ा बनाने के लिए, लसोड़ा को पानी में उबालकर पीया जा सकता है। इसके अलावा, इसके पेड़ की छाल को भी पानी में उबालकर और छानकर पिया जा सकता है। अगर आपके गले में खराश है तो आपको इस काढ़े से काफी राहत मिलेगी। एलर्जी की समस्या लैसोडा के बीज दाद, खाज या खुजली जैसी समस्याओं से निपटने के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं। इसके लिए लसोड़ा के बीजों को पीसकर पेस्ट की तरह खुजली वाले स्थान पर लगाएं। आपको बता दें कि आज भी लसोड़ा का इस्तेमाल कई जगहों पर दवाओं के रूप में किया जाता है। शरीर को ताकत मिलती है लसोड़ा से न केवल प्रोटीन मिलता है बल्कि इसमें कार्बोहाइड्रेट, फाइबर, आयरन, फॉस्फोरस और कैल्शियम जैसे गुण भी होते हैं जो शरीर को कई तरह से फायदा पहुंचाते हैं। कच्चे खाने के अलावा, लसोड़ा का भी सेवन किया जाता है। लड्डू भी सुखाए जाते हैं और अन्य सामग्रियों के साथ मिलाकर लड्डू भी बनाए जाते हैं, जिससे शरीर को ताकत मिलती है जिससे आप दिन भर सक्रिय दिखेंगे। आप चाहें तो अपने आहार में लासोडा का साग भी शामिल कर सकते हैं। उसके पेट का दर्द दूर होगा। कई लड़कियों के पीरियड के दिनों में न केवल मूड स्विंग होता है बल्कि दर्द भी होता है। इससे राहत पाने के लिए आप लसोड़ा ले सकते हैं। इसके लिए, आप लसोड़ा की छाल का काढ़ा बना और पी सकते हैं। इस बात का ध्यान रखें कि पीरियड के दौरान अगर आप इसे एक या दो बार पीते हैं, तो इससे आपको बहुत आराम मिलेगा। दांत दर्द से राहत मिलेगी। अगर आपको दांत दर्द जैसी समस्या है, तो आप राहत पाने के लिए लसोड़े के पेड़ की छाल का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसमें से। काढ़ा बनाने के लिए पेड़ की छाल को पानी में उबालें और उस पानी को कुल्ला करें। ऐसा रोजाना करने से आपको दांत के दर्द से राहत मिलेगी और यह हमेशा स्वस्थ रहेगा।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.