हत्यारा विमान, जिसमें दो साल के भीतर 346 लोग मारे गए

हत्यारा विमान, जिसमें दो साल के भीतर 346 लोग मारे गए

बोइंग कंपनी के एक विमान ने लॉन्च होने के सिर्फ दो साल में कुल 346 जिंदगियां लीं। हालांकि, विमान को धोखाधड़ी सुरक्षा नियमों के लिए दोषी ठहराया गया है। अमेरिकी न्याय विभाग ने फैसला सुनाते हुए बोइंग कंपनी को हर्जाने और जुर्माने में 2.5 बिलियन डॉलर देने को कहा है। बोइंग कंपनी के इस विमान का नाम 737 मैक्स विमान है। इस विमान ने दो भयावह दुर्घटनाओं का कारण बना। न्याय विभाग के अनुसार, बोइंग ने भी निपटान के लिए सहमति व्यक्त की है। 737 मैक्स विमान के कारण हुए हादसे में मारे गए लोगों और कर्मचारियों के परिजनों को नुकसान और नियमों के उल्लंघन के लिए जुर्माना लगाया जाएगा। विमान को बोइंग कंपनी द्वारा वर्ष 2017 में लॉन्च किया गया था। 29 मई, 2018 को, विमान ने लायन एयर, इंडोनेशिया के लिए उड़ान भरते समय समुद्र में उड़ान भरी। हालांकि, बोइंग ने इसके बावजूद विमान का संचालन जारी रखा। दूसरी दुर्घटना 10 मार्च 2019 को हुई। इस दौरान इथियोपियाई एयरलाइंस का विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया। बता दें कि इन दोनों हादसों में कोई भी जीवित नहीं बचा था और कुल 346 लोगों ने अपनी जान गंवाई थी। इन दोनों हादसों को देखते हुए बोइंग ने अपनी स्वचालित उड़ान नियंत्रण प्रणाली में बदलाव किए। कंपनी ने पाया कि एक सेंसर का गलत पढ़ना दुर्घटना का कारण था। इसके बाद, विमान का डिज़ाइन बदल दिया गया ताकि सेंसर हमेशा काम करें। इसके अलावा, विमान की स्वचालित प्रणाली को कम शक्तिशाली बनाया गया था, ताकि पायलट इस पर नियंत्रण बनाए रख सके। 2019 में बंद की गई सेवा को मार्च 2019 में रोक दिया गया था, जिसमें 737 मैक्स विमान शामिल थे। जनवरी 2020 तक, इसके लगभग 400 विमान खड़े थे। इसके बाद, विमान को तकनीकी परिवर्तनों के साथ मई में फिर से शुरू किया गया और नवंबर 2020 में इसे फिर से सेवा के लिए फिट घोषित किया गया।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.