UIDAI ने किया अलर्ट, गलती से भी सोशल मीडिया पर न करें ये काम

UIDAI ने किया अलर्ट, गलती से भी सोशल मीडिया पर न करें ये काम

आधार कार्ड का हमारे जीवन में बहुत महत्व होने लगा है। इस 12 नंबर कार्ड को व्यक्ति की पहचान के रूप में देखा जाता है। लेकिन लोग आधार कार्ड के बारे में एक बड़ी गलती करते हैं, जिसके कारण वे फंस जाते हैं। अब आधार कार्ड का उपयोग व्यक्तिगत वित्तीय उद्देश्यों के लिए भी किया जा रहा है। आयकर रिटर्न दाखिल करने तक बैंक से आधार कार्ड होना आवश्यक है, जिसके कारण आधार और धोखाधड़ी से संबंधित कई मामले आ रहे हैं। हालांकि, इन धोखाधड़ी और धोखाधड़ी से बचने के लिए, भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (UIDAI) ने अपने ग्राहकों के लिए एक एडवाइजरी जारी की है। UIDAI ने अपने ट्विटर हैंडल के माध्यम से बताया कि लोगों को सोशल मीडिया पर अपने आधार की जानकारी साझा नहीं करनी चाहिए। आधार सबसे महत्वपूर्ण दस्तावेजों में से एक है, इसलिए इसे सोशल मीडिया जैसी सार्वजनिक जगहों पर साझा नहीं किया जाना चाहिए। एजेंसी ने कहा कि लोगों को आधार से जुड़ी अपनी जानकारी सोशल मीडिया पर साझा नहीं करनी चाहिए। वहीं, आधार से जुड़ी समस्या के लिए यूजर की एजेंसी के पर्सनल इनबॉक्स में मैसेज करें। यूआईडीएआई का कहना है कि अगर आधार कार्ड से किसी भी सेवा का लाभ उठाया जाता है, तो उसके सत्यापन के लिए सबसे पहले मोबाइल फोन पर ओटीपी भेजा जाता है। इसके बाद, आधार कार्ड को मोबाइल फोन से लिंक करें। इसके लिए आपको नजदीकी आधार केंद्र पर जाना होगा। वहां जाकर, उपयोगकर्ता अपने मोबाइल नंबर और ईमेल आईडी को अपडेट कर सकते हैं। इसके अलावा, आप घर बैठे अपने आधार में जन्मतिथि और पते को अपडेट कर सकते हैं।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.