बजट 2021: बीमा क्षेत्र पर सरकार का बड़ा फैसला, FDI बढ़कर 74 प्रतिशत

बजट 2021: बीमा क्षेत्र पर सरकार का बड़ा फैसला, FDI बढ़कर 74 प्रतिशत

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने घोषणा की कि अब 74% तक एफडीआई बीमा क्षेत्र में उपलब्ध होगा। पहले यहां केवल 49 प्रतिशत की अनुमति थी। इसके अलावा, निवेशकों के लिए एक चार्टर की घोषणा की गई है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने स्टार्ट-अप कंपनियों की घोषणा की। इसके तहत, लगभग एक प्रतिशत कंपनियों को शुरुआत में बिना किसी प्रतिबंध के काम करने की अनुमति होगी।

प्रस्ताव को अंतिम बजट भाषण में रखा गया था

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने वित्त वर्ष 2020-21 के बजट भाषण में कहा कि सरकार बीमा और पेंशन क्षेत्र में एफडीआई सीमा बढ़ा सकती है। भारतीय बीमा विनियामक और विकास प्राधिकरण यानी IRDA ने बीमा क्षेत्र में FDI को 74% तक सीमित करने के प्रस्ताव का भी समर्थन किया है।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि राष्ट्रीय रेल योजना 2030 तैयार है। रेलवे को कुल 1.10 लाख करोड़ रुपये का बजट दिया गया है। भारतीय रेलवे के अलावा, बढ़ती मेट्रो, सिटी बस सेवा पर ध्यान केंद्रित किया जाएगा। इसके लिए 18 हजार करोड़ रुपये की लागत लगाई जाएगी। अब मेट्रो लाइट लाने पर जोर दिया जा रहा है। कोच्चि, बैंगलोर, चेन्नई, नागपुर, नासिक में मेट्रो परियोजना को बढ़ावा देने की घोषणा की गई।

निर्मला सीतारमण ने कहा कि मोदी सरकार द्वारा आत्मनिर्भर भारत पैकेज ने कोरोना अवधि के दौरान देश में कई योजनाएं लाईं ताकि अर्थव्यवस्था की गति को आगे बढ़ाया जा सके। सीतारमण ने कहा कि आत्मनिर्भर भारत पैकेज में 27.1 लाख करोड़ रुपये की कुल सहायता जारी की गई। ये सभी पांच मिनी बजट के समान थे।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि इस बार का बजट एक डिजिटल बजट है, यह ऐसे समय में आ रहा है जब देश की जीडीपी लगातार दो बार माइनस में चली गई है, लेकिन वैश्विक अर्थव्यवस्था के साथ ऐसा हुआ है। वर्ष 2021 एक ऐतिहासिक वर्ष होने जा रहा है।

Source link