सोना 1,661 रुपये और चांदी 347 रुपये घट गई

सोना 1,661 रुपये और चांदी 347 रुपये घट गई

देश में शुक्रवार को भी सोने की कीमतों में गिरावट दर्ज की गई। एचडीएफसी सिक्योरिटीज के अनुसार, कीमती धातुओं की वैश्विक कीमत को दर्शाते हुए, दिल्ली में सोने की कीमतें शुक्रवार को 661 रुपये प्रति ग्राम से गिरकर 46,4845 रुपये हो गई।

पिछले कारोबारी सत्र में सोना 47,508 रुपये प्रति 10 ग्राम पर बंद हुआ था। चांदी की कीमत को देखते हुए यह भी 34 रुपये प्रति किलोग्राम से घटकर 67,794 रुपये हो गई, जो पिछले कारोबारी सत्र में 686,241 रुपये प्रति किलोग्राम थी।

अंतरराष्ट्रीय बाजार में, सोना 1, 1,815 प्रति औंस और चांदी 96 2.96 प्रति औंस पर फ्लैट था। एचडीएफसी सिक्योरिटीज के वरिष्ठ विश्लेषक (उत्पाद) तपन पटेल ने कहा, “सोना डॉलर के सूचकांक की तुलना में कमजोर है।”

गौरतलब है कि भारत में जनवरी में गोल्ड एक्सचेंज ट्रेडेड फंड्स (ETF) में 625 करोड़ रुपये का निवेश किया गया था, जो पिछले महीने से 45% अधिक था। निवेशकों को उम्मीद है कि सोने का बाजार आगे बढ़ेगा।

म्यूचुअल फंड कंसोर्टियम एएमएफआई के मुताबिक, जनवरी के अंत में गोल्ड ईटीएफ में निवेश 22 प्रतिशत बढ़कर 14,441 करोड़ रुपये हो गया।

नवंबर 2020 में, Tk 141 करोड़ ऐसी परियोजनाओं से नि: शुल्क उठाया गया था। दिसंबर में इसका कुल निवेश Tk 431 करोड़ था। मॉर्निंगस्टार इंडिया के सहायक निदेशक हिमांशु श्रीवास्तव ने कहा कि सोने की कीमतें पिछले साल अगस्त में सर्वकालिक उच्च स्तर पर आ गई थीं। जनवरी में इसकी कीमतें भी काफी घट गई थीं।

देश की सोने की मांग पिछले साल 35 प्रतिशत से अधिक घटकर 2020 में 446.4 टन हो गई। यह जानकारी विश्व स्वर्ण परिषद (डब्ल्यूजीसी) की एक रिपोर्ट में दी गई है। डब्ल्यूजीसी की 2020 की सोने की मांग की स्थिति पर रिपोर्ट में कहा गया है कि कोरोनोवायरस की कीमत और सभी कीमती धातुओं तक पहुंचने वाली प्रभावी कीमती धातुओं के कारण लगाए गए लॉकडाउन के बीच सोने की मांग में गिरावट आई है।

इसी समय, हालांकि, रिपोर्ट में कहा गया है कि स्थिति सामान्य हो रही है और सुधारों की एक श्रृंखला के माध्यम से उद्योग को मजबूत किया गया है। इस प्रकार, इस वर्ष 2021 के आने वाले महीनों में सोने की मांग में और सुधार होने की उम्मीद है।

Source link